फेल साबित हुआ मानव श्रृंखला बनाना?

फेल साबित हुआ मानव श्रृंखला बनाना?

सिवान में 6 लाख लोगों द्वारा 296 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाने का लक्ष्य भी पूरा नहीं हो पाया।
मुख्य सड़कों को छोड़ कर अन्य सड़कें जिन पर श्रृंखला बनानी थी वहां पर लोगों की कमी देखी गई।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा मानव श्रृंखला बनाने की पहल पहले की जा चुकी है।
बीते साल शराब बंदी को ले कर पूरे बिहार में लोगों नें मानव श्रृंखला का निर्माण किया था जो कि विश्व का सबसे बड़ा मानव श्रृंखला भी कहा गया।
Guiness Book of world रिकॉर्ड में इस मानव श्रृंखला को शामिल किया गया।

शराब बंदी के बावजूद बिहार में आए दिन शराब तस्कर गिरफ्तार किए जा रहे हैं।

loading...

नहीं शामिल हुए अधिक लोग

दहेज प्रथा और बाल विवाह के विरुद्ध पूरे बिहार में 21 जनवरी को बने मानव श्रृंखला को ‘फेल’ बताया जा रहा है।

लोगों का इस प्रोग्राम में शामिल न होने का असल कारण बिहार में बढ़ती बेरोजगारी को भी बताया जा रहा है।

एक यूजर लिखते हैं कि

“सिवान में मानव श्रृंखला पूरी तरह फ्लॉप।
स्कूली बच्चों के कंधे पर रहा मानव श्रृंखला का भार।

जबरन बच्चों को श्रृंखला में शामिल किया गया।”

ये भी पढ़ें :

  1. नितीश कुमार का सिवान में होगा आगमन, तैयारियां चालू

हमें फेसबुक पे Like करें

Please follow and like us:
1

Related posts

Leave a Comment